नई दिल्ली: सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की आत्महत्या के बाद बॉलीवुड में परिवारवाद और वंशवाद को लेकर बहस छिड़ गई है. कंगना रनौत हर मुद्दे पर बेबाकी से अपनी राय रखती हैं. इस बार भी सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या को उन्होंने अपने एक वीडियो में हत्या का नाम दिया था और बॉलीवुड में चल रहे नेपोटिज्म पर एक बार फिर से खुलकर अपनी राय रखी. वहीं, अब कंगना रनौत ने कुछ लोगों के चेहरों को बेनकाब करते हुए बड़े खुलासे किए हैं.

बता दें, मुकेश भट्ट ने सुशांत सिंह राजपूत के आत्महत्या को परवीन बाबी से जोड़ते हुए हाल ही में एक बयान दिया था, जिसके खिलाफ अब कंगना रनौत ने जवाब दिया है. कंगना ने कहा, ‘सुशांत सिंह राजपूत को प्रोफेशनल तौर पर परेशान किया जाता था और नेपोटिज्म की वजह से उन्हें अपनी जान गवानी पड़ी. जिस तरह से सुशांत के साथ व्यवहार किया जाता था, ठीक उसी तरह मैंने भी अपने करियर के दौरान झेला है. वही दबाव मैंने भी महसूस किया है.’

कंगना ने आगे बताया, ‘एक बार जावेद अख्तर ने मुझे अपने घर पर बुलाकर कहा था कि राकेश रोशन और उनका परिवार बहुत बड़ा है. अगर तुम उनसे माफी नहीं मांगोगी तो तुम कहीं की नहीं रहोगी. वो लोग तुम्हें जेल भेजवा देंगे और तुम्हारे पास बर्बादी के अलावा कोई और रास्ता नहीं बचेगा. तुम आत्महत्या करने को मजबूर हो जाओगी. ये थे जावेद अख्तर जी के शब्द. उन्होंने ऐसा क्यों सोचा कि अगर मैं ऋतिक रोशन से माफी नहीं मागूंगी, तो मुझे आत्महत्या करनी पड़ जाएगी. उन्हें मुझे डांटा, मुझ पर चीखे थे वो.’ 

सुशांत सिंह राजपूत पर बात करते हुए कंगना रनौत ने कहा, ‘क्या जिस तरह से मुझ पर दबाव बनाया जाता था उसी तरह से सुशांत सिंह के साथ भी लोग ऐसा ही कर रहे थे. क्या लोग ऐसे विचार उनके दिमाग में डाल रहे थे. मुझे अंदाजा नहीं इस बात का, लेकिन वह भी कुछ इस तरह की परिस्थिति में जरूर रही होंगीं. मैं जानना चाहती हूं कि सुशांत को आत्महत्या के लिए किसने उकसाया है.’ 

कंगना ने आगे कहा, ‘बॉलीवुड में कुछ लोग बकवास करते हैं. मुझे पता है कि सुशांत सिंह के आदित्य चोपड़ा संग रिलेशन अच्छे नहीं थे. मैंने जब ‘सुल्तान’ में काम करने से मना कर दिया था तो उन्होंने मुझे भी धमकी दी थी. उन्होंने कहा था कि वो मेरे साथ कभी काम नहीं करेंगे. इसके बाद से पूरी इंडस्ट्री मेरे खिलाफ हो गई थी. तब मैं खुद को बहुत अकेला महसूस करती थी और सोचती थी कि अब मेरा क्या होगा. इन लोगों के पास इतनी ताकत होती है कि ये कभी भी किसी से भी ये कह सकते हैं कि मैं तुम्हारे साथ काम नहीं करूंगा. अब ये तो आपकी इच्छा है कि आप किसके साथ काम करना चाहते हैं या नहीं. इसके खिलाफ जब आप आवाज उठाते हैं तो गुटबंदी शुरू हो जाती है. इसके बाद ऐसी परिस्थितियां पैदा होती हैं जैसा सुशांत के साथ हुआ. ऐसे सुविधासम्पन्न लोगों के हाथ खून से रंगे हुए हैं. उन्हें जवाब देना चाहिए. ऐसे लोगों को बेनकाब करने के लिए अब मैं किसी भी हद तक जा सकती हूं क्योंकि अब बहुत हो गया.’

कंगना रनौत ने आगे कहा,’ मैंने सिर्फ अपनी प्रोफेशन जिंदगी में ही ये सब नहीं सहा है, बल्कि इसकी वजह से मेरी पर्सनल जिंदगी भी काफी प्रभावित हुई है. इन लोगों में असुरक्षा की भावना होती है. एक व्यक्ति मुझसे शादी करना चाहता था, लेकिन इन लोगों ने उसे मेरी जिंदगी से दूर करने में कोई कसर नहीं छोड़ी. मुझे मेरे करियर के बारे में कुछ भी नहीं पता. मेरी लव लाइफ बर्बाद हो गई. मेरे ऊपर 6 केस किए गए. मुझे जेल भेजने का वो लोग अब भी प्रयास कर रहे हैं. ‘

सुशांत से खुद को जोड़ते हुए कंगना ने आगे कहा, ‘मैं काफी अलग हूं. मैं अपने विचार रखती हूं. अपनी भड़ास निकालती हूं. सुशांत मेरे जैसे बिल्कुल भी नहीं थे. वो खुद को बंद रखते थे. उनकी इमेज खराब करने में मीडिया का भी काफी रोल है. सुशांत को जो भी करीब से जानता है वो ये कहता है कि वो बेहद इमोशनल थे. एक समय पर आकर उनके लिए ये झेलना मुश्किल हो गया था. मैं समझ सकती हूं कि मेरी भी इमेज खराब करने की पूरी कोशिश की गई है. उनकी फिल्मों को कम आंका गया जबकि वो ‘गली बॉय’ जैसी फिल्म से बेहतर प्रदर्शन कर रही थी. सलमान खान जैसे लोगों ने बोला कि कौन सुशांत सिंह? और ऐसा उन्होंने तब बोला जब ‘एमएस धोनी: द अनटोल्ड स्टोरी’ से सुशांत खुद को साबित कर चुके थे. ‘

कंगना रनौत ने बॉलीवुड में वंशवाद फैलाने वाले लोगों को बेनकाब करने की बात कही है. अब देखना होगा कि आने वाले दिनों में वो बॉलीवुड से नेपोटिज्म को खत्म करने में किस तरह के कदम उठाती हैं. 



Source link

Leave a Reply