खांसी का घरेलू इलाज Khansi ka gharelu ilaj

बदलते मौसम और खान-पान के कारण किसी को भी खांसी की समस्या हो सकती है। हालांकि, खांसी की समस्या जल्द ठीकहो जाती है, लेकिन समय रहते इलाज न करने पर यह गंभीर रूप भी ले सकती है। इसलिए, अगर किसी को हल्की-सी खांसी भीहै, तो उसे ठीक करना जरूरी है। 

इसके लिए घरेलू उपचार का सहारा लिया जा सकता है। ये घरेलू उपचार शुरुआत में ही खांसी को गंभीर रूप लेने से रोक सकतेहैं। वहीं, अगर किसी की खांसी गंभीर अवस्था में आ चुकी है, तो ऐसे में घरेलू उपचार खांसी से उबरने में मदद कर सकते हैं, लेकिन पूरी तरह से ठीक नहीं कर सकते। 

इसलिए, मरीज को बिना देरी किए डॉक्टर से इलाज करवाना चाहिए। स्टाइलक्रेज के इस आर्टिकल में हम आपको रात में खांसीआने का कारण और खांसी का घरेलू इलाज बताएंगे। साथ ही बताएंगे कि इससे कैसे बचा जा सकता है।

आर्टिकल के शुरुआत में हम खांसी के कारण और जोखिम कारण की जानकारी दे रहे हैं।

विषय सूची -:

1 खांसी के कारण और जोखिम कारक – Causes and 

Risk Factors of Cough in Hindi

2 खांसी के लक्षण – 

    Symptoms of Cough in Hindi

3 खांसी के प्रकार – Types of Cough in Hindi

4 खांसी के घरेलू इलाज – Home Remedies for Cough in Hindi

5 खांसी होने पर कौन-कौन सी चीजें नहीं खानी चाहिए?

6 क्या इन घरेलू नुस्खों से पुरानी से पुरानी खांसी का इलाज हो सकता है?

7 क्या ये घरेलू नुस्खे सूखी खांसी का इलाज करने में मदद कर  सकते हैं?

8 खांसी के लिए डॉक्टर की सलाह कब लेनी चाहिए?

9 खांसी से बचाव – Prevention Tips For Cough in Hindi

10 अक्सर पूछे जाने वाले सवाल –

  • खांसी के कारण और जोखिम कारक – Causes and Risk Factors of Cough in Hindi

आप खांसी का घरेलू इलाज जानें, उससे पहले यह जानना जरूरी है कि खांसी होने के कारण क्या हैं। कई लोगों को बार-बारखांसी की परेशानी होने लगती है, जिसका असर उनकी सेहत पर भी पड़ता है । 

Image.jpeg

*एलर्जी

*ट्यूबरक्लोसिस या टीवी

*धूल-मिट्टी, प्रदूषण

 *दमा

*श्वसन तंत्र के संक्रमण जैसे –    

    ठंड लगना या निमोनिया

*मौसम का बदलना

*फेफड़ों का कैंसर

*मुंह सूखना

*ब्रोन्किइक्टेसिस

*टॉन्सिल का संक्रमित होना यानी 

      टॉन्सिलाइटिस

*गर्ड (Gastroesophageal 

            reflux disease)

*धूम्रपान करना

*काली खांसी (Pertussis)

*ठंडी चीजें जैसे – आइसक्रीम 

    या कोल्डड्रिंक का सेवन

अब हम खांसी के विभिन्न लक्षणों की जानकारी देंगे

2** खांसी के लक्षण – 

    Symptoms of Cough 

     in Hindi

खांसी की समस्या होने पर इसके लक्षण  इस प्रकार हैं जो  कारण के आधार पर दिखाई दे सकते हैं,

* गले में खराश होना

* गले में दर्द होना

* बुखार आना

* सिरदर्द

* थकान होना

* सीने में दर्द होना

* सांस लेने में परेशानी होना

* नाक बंद होना

* उल्टी आना

* नींद न आना

* सीने में जलन होना

* खाने की इच्छा न होना

●आइये जानते हैं, खांसी के   

    कितने प्रकार होते हैं।

3** खांसी के प्रकार – 

    Types of Cough in     

     Hindi

जब खांसी जल्द ठीक हो जाए, तो इसे सामान्य माना जाता है, लेकिन अगर यही खांसी ज्यादा दिनों तक रहती है, तो यह चिंताका कारण हो सकता है। इसलिए, यह जरूरी है कि समय रहते खांसी के प्रकार की पहचान कर खांसी का इलाज किया जाए।हम नीचे खांसी के कुछ प्रकार बता रहे हैं ।

1● तीव्र खांसी (Acute 

    Cough) – यह खांसी    

    आमतौर पर तेजी से शुरू 

    होती है। इसके पीछे मुख्य 

    कारण सर्दी, फ्लू या साइनस 

    संक्रमण होता है। इस प्रकार 

    की खांसी आमतौर पर 3   

    सप्ताह  में ठीक हो जाती है।

    सब 

2● एक्यूट खांसी- जब एक्यूट 

      खांसी 3 हफ्ते बाद भी ठीक   

      न हो और 8 सप्ताह तक रहे, 

      तो उसे सब एक्यूट खांसी 

      कहा जाता है।

3● पुरानी खांसी (Chronic    

       Cough) – यह खांसी कई 

       दिनों तक रहती है और कई 

       बार आठ हफ्ते से ज्यादा 

       समय तक रह सकती है। 

       ऐसे में बिना देर करते हुए 

       तुरंत डॉक्टर के पास जाएं 

       और अपनी परेशानी बताएं।

4● कुक्कुर खांसी

       (Pertussis) – यह खांसी 

       संक्रमण से होती है, जो नाक 

      और गले को प्रभावित करती 

       है। यह खांसी ज्यादातर    

       बच्चों को होती है ।

5● बलगम वाली खांसी – इसमें 

       खांसते समय बलगम 

       निकलता है। इस तरह की 

       खांसी में सीने में बलगम 

       जमा हो जाता है, जिस 

       कारण मरीज को सांस तक 

       लेने में परेशानी होती है।

6● सूखी खांसी (Dry Cough) –    यह खांसी गले में खराश के 

       साथ होती है। बार-बार 

       लगेगा कि गले में कुछ फंसा 

       है। इसमें खांसने से बलगम 

       नहीं निकलता है, यह खांसी 

       बदलते मौसम या धूल-मिट्टी 

       व प्रदूषण के कारण हो 

       सकती है।

7● रात में खांसी (Nocturnal 

       Cough) – यह खांसी 

       ज्यादातर रात को होती है। 

       यह कभी-कभी इतनी तीव्र 

       हो जाती है कि मरीज को 

       नींद भी नहीं आती है।

■   आगे हम खांसी के घरेलू

       इलाज के बारे में बताएंगे।

4** खांसी के घरेलू इलाज – 

      Home Remedies for 

      Cough in Hindi

खांसी की समस्या से राहत पाने के लिए घरेलू उपाय को अपनाकर इस समस्या का इलाज किया जा सकता है। इसके लिए नीचेबताए जा रहे किसी भी घरेलू उपाय को अपना सकते हैं।

Image_1.jpeg

1. नमक के पानी से गरारे

सामग्री:

एक चम्मच नमक

एक गिलास गर्म पानी

कैसे करें उपयोग:

गर्म पानी में नमक मिलाएं।

फिर इससे गरारे करें।

कितनी बार करें उपयोग:

आप इसे दिनभर में दो से तीन बार कर सकते हैं।

कैसे है लाभदायक:

पानी में नमक डालकर गरारे करने का नुस्खा वर्षों से लगभग हर घर में चला आ रहा है। इसे सबसे आसान और खा

Leave a Reply