जामिया गोलीकांड: कौन है रामभक्त गोपाल जीवनी Who is Jamia Shooter Rambhakt Gopal Wiki Biography Profile

गोपाल के पिता ने कहा- बेटे ने कभी लड़ाई नहीं की, वह तो पढ़ाई कर रहा था

जेवर के रहने वाले गोपाल ने फेसबुक पर रामभक्त गोपाल नाम से प्रोफाइल बना रखी है। पिता राजेंद्र शर्मा पान की दुकान चलाते हैं। उनके दो बेटे हैं गोपाल बड़ा बेटा है जो 12वीं में पढ़ता है। पिता ने कहा कि बेटे ने इससे पहले कभी किसी से लड़ाई नहीं की थी। वह तो पढ़ाई कर रहा था। वहीं, मोहल्ले के लोग कह रहे हैं कि गोपाल फेसबुक पर तीन साल से ज्यादा ही एक्टिव हो गया था।

दिल्ली के जामिया इलाके में CAA के विरोध में निकाले जा रहे मार्च में गुरुवार को अचानक हड़कंप मच गया. एक सिरफिरे ने ‘जय श्रीराम’ के नारे लगाए और गोली चला दी. ये सिरफिरा खुद को रामभक्त बताता है.

इसकी फेसबुक प्रोफाइल के बॉयो में लिखा है- “रामभक्त गो** नाम है हमारा…. BIO में इतना काफी है. वाकी सही समय आने पर.. जय श्री राम.”
गोली चलाने से पहले फेसबुक लाइव भी किया
उसकी फेसबुक प्रोफाइल के मुताबिक, जामिया में हमले से पहले उसने फेसबुक लाइव किया था. इनकी ज्यादातर पोस्ट में ये खुद को कट्टर हिंदू बताते हैं. हालांकि फेसबुक लाइव में वह कुछ बोला नहीं. फेसबुक लाइव में सिर्फ जामिया इलाके की भीड़ दिखा रहा है.

उसने हमला करने के 2 घंटे पहले फेसबुक पर कई पोस्ट किए थे. पोस्ट में लिखा था-

‘शाहीन बाग… खेल खत्म’
‘मेरी अंतिम यात्रा पर … मुझे भगवा में ले जाएं… और जय श्री राम के नारे हो’
‘मैं यहां अकेला हिंदू हूं’
‘कोई हिंदू मीडिया नहीं है यहां’
‘मैं यहां अकेला हिंदू हूं’
‘मेरे घर का ध्यान रखना’
‘आजादी दे रहा हूं’
दिल्ली पुलिस ने गोली चलाने वाले शख्स को हिरासत में ले लिया है और उससे पूछताछ की जा रही है. इस हमले से एक शख्स घायल भी हो गया है. घायल युवक को तुरंत प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है. चश्मदीदों के मुताबिक, ‘गोली चलाने वाले ने ‘वंदे मातरम’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे भी लगाए.’

अचानक गोली चलने से पुलिस के भी हाथ पांव फूल गए. डीसीपी चिन्मय बिश्वाल ने कहा, “युवक ने खुले में पहले पिस्तौल लहराई. उसके बाद गोली चला दी, वीडियो हमारे पास है. युवक को मौके पर ही दबोच लिया गया. उससे पूछताछ की जा रही है.”

बता दें कि नागरिकता संशोधन कानून (CAA) और राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (NRC) के विरोध में जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी से राजघाट तक मार्च निकाला जाना था. इसी दौरान पूरे इलाके में भारी संख्या में पुलिस तैनात थी. जब छात्र प्रोटेस्ट में नारा लगा रहे थे तब ही एक शख्स बंदूक लेकर भीड़ को गोली मारने की धमकी देने लगा. इसी बीच उसने गोली चला दी. जिसमें एक छात्र घायल हुआ है.

Leave a Reply